Headlines

होमगार्ड जवान जा रहा था चिकन मसाला खरीदने, कुछ लोगों ने किडनैप कर करवा दिया पकड़ौआ विवाह और फिर 4 घंटे बाद हुआ कुछ ऐसा जिसे सुनकर उड़ जाएंगे होश।

Share

ख़बर पड़ताल ब्यूरो:- आपने बहुत टेलीविजन चैनलों पर आने वाले सीरियल, फिल्मों में देखा होगा की किस तरह बिहार मे किसी सरकारी नौकरी वाले या अमीर युवक को पकड़ कर उसका जबरन जिसे वह जानता भी नहीं है उसके साथ विवाह करवा दिया जाता है, असल में आज भी बिहार के कई इलाकों में आज भी ऐसा होता है, एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां होमगार्ड का एक जवान चिकन मसाला खरीदने के लिए बाइक से उतरा. लेकिन उसका किडनैप कर लिया गया. फिर पूर्णिया ले जाकर जवान की शादी एक लड़की से करवा दी गई. वो भी जवान की मर्जी जाने बिना. 4 घंटे बाद पुलिस ने जवान को सड़क से रेस्क्यू किया. उसके शरीर पर चोट के कई निशान थे. पुलिस फिलहाल आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

बता दें की बिहार के भागलपुर में एक होमगार्ड जवान का पहले अपहरण किया गया. फिर किडनैपर्स उसे 100 किलोमीटर दूर पूर्णिया ले गए. वहां उसका पकड़ौआ विवाह करवा दिया गया, घटना नवादा के पास की है. पीड़ित होमगार्ड जवान सुमित कुमार नवगछिया थाना क्षेत्र के सकूचा का रहने वाला है. सुमित के भाई वीरेंद्र के लिखित बयान पर नवगछिया थाने में FIR दर्ज कर ली गई है. बताया कि सुमित ने होमगार्ड जवान का प्रशिक्षण पूरा किया है और सोमवार से नवगछिया थाना में उसे ज्वाइनिंग देनी थी. लेकिन इससे पहले ही उसका अपहरण कर उसकी शादी यानि पकड़ौआ विवाह करवा दिया गया।

वीरेंद्र ने कहा, ‘मेरा भाई सुमित अपने चचेरे भाई प्रभास कुमार के साथ बाइक से अपने मामा गौतम यादव के घर जगतपुर गया हुआ था. मामा के पास 1 लाख रुपया बकाया था जिसे लेने के लिए सुमित गया था. मामा ने रुपयों के साथ दो मुर्गे भी दिए थे. सुमित ने सोचा कि घर जाकर चिकन बनाएंगे. इसलिए रास्ते में उसने बाइक रोकी. चिकन मसाला लेने के लिए वह दुकान की तरफ जाने लगा. तभी स्कॉर्पियो से आए कुछ लोगों ने हथियार के बल पर सुमित को जबरन गाड़ी में बैठाया और साथ लेकर चले गए. अपहरणकर्ताओं में गोपाल यादव नाम का शख्स भी था. पूर्णिया ले जाकर सुमित की गोपाल यादव की बेटी से जबरन शादी करवा दी गई. इस दौरान सुमित और उसके चचेरे भाई के साथ मारपीट भी की गई.’

शादी के बाद सुमित को वे लोग बीच सड़क पर छोड़कर चले गए. सुमित ने किसी तरह घर वालों को इसकी जानकारी दी. परिजनों ने पुलिस से मदद मांगी. फिर चार घंटे बाद सुमित और उसके भाई को बरामद कर लिया गया. मामले में पुलिस ने धोबिनिया के गोपाल यादव, रोहित यादव, भीली कुमार और अश्वनी कुमार को आरोपित बनाया. फिलहाल सभी आरोपियों की तलाश जारी है. सुमित का मेडिकल करवाया गया है।

रिपोर्ट: साक्षी सक्सेना 


Share