12.4 C
Rudrapur
Wednesday, February 28, 2024
spot_img
spot_img

Haldwani” हिंसा:- बिहार से हल्द्वानी नौकरी की तलाश में पंहुचा था युवक लेकिन हिंसा के दौरान उपद्रवियों ने सिर पर गोली मारकर उतार दिया मौत के घाट; रेलवे पटरी पर फेंक दिया था शव, सूचना मिलते ही परिवार में मचा कोहराम…..*

Must read

उत्तराखंड’ के हल्द्वानी में 8 फरवरी को हुई हिंसा, उपद्रव, आगजनी जैसी घटना से हर कोई वाकिफ है, पुरे देश में हल्द्वानी की हिंसा चर्चा में रही साथ ही कई राजनीतिक पार्टियों ने इस पर राजनीतिक रोटियां भी सेंकी, कई लोगों एस हिंसा को देश के लिए खतरा भी बताया लेकिन एस हिंसा में कई आम लोगों का का भी बहुत नुकसान हुआ, कई लोग घर छोड़कर चले गए, बहुत से लोगों को अपने घरों में ताले डालने पड़े, स्थिती ये है की हल्द्वानी के बनभूलपुरा से बहुत से लोगों ने पलायन कर लिया है, इसी बीच एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसे सुनकर आपका भी दिल दहल जाएगा…

रिपोर्ट- साक्षी सक्सेना 

हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुए उपद्रव में बिहार के भोजपुर जिले के एक युवक की मौत हो गई है. भोजपुर से रोजगार की तलाश में हल्द्वानी पहुचे युवक को दो दिन बाद ही उपद्रवियों ने मार डाला, मृतक युवक की पहचान बडहरा प्रखंड के सिन्हा ओपी क्षेत्र के छिनेगाँव निवासी श्याम किशोर सिन्हा का 26 वर्षीय पुत्र प्रकाश कुमार सिंह के रूप में हुई है, वहीँ शनिवार को प्रकश की मौत की ख़बर मिलते ही घर में कोहराम मच गया है. बताया जा रहा है की प्रकाश इसी महीने 6 फरवरी को हल्द्वानी नौकरी की तलाश में आया था, पुलिस को प्रकश का शव 9 फरवरी को बनभूलपुरा में इन्द्रानगर गेट के पास रेलवे पटरी पर मिला था, प्रकाश 6 फरवरी को बिहार से हल्द्वानी पंहुचा था, इसी बीच में क्षेत्र में उपद्रव मच गया और 8 फरवरी को प्रकाश के साथ उपद्रवियों ने मारपीट की और उसे गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई….

जानकारी के मुताबिक बता दें की हल्द्वानी में प्रकाश का एक दोस्त पहले से ही नौकरी करता है, दोस्त के बुलाने पर ही प्रकाश नौकरी के लिए बिहार से हल्द्वानी आया था, वहीँ हल्द्वानी पुलिस ने प्रकाश के आधार कार्ड के आधार पर बडहरा थाना अध्यक्ष को फ़ोन कर प्रकाश की मौत की सूचना दी. वहीँ प्रकाश की बहन मधु ने बताया की उसकी शुक्रवार को पुरे दिन परिवार से बात नहीं हुई थी. उसका मोबाइल बंद बता रहा था, इसके बाद शुक्रवार को जब दोपहर में मोबाइल ऑन हुआ तो घर से फ़ोन किया गया. तब उसका फ़ोन किसी पुलिस वाले ने उठाया और इस घटना की जानकारी दी.

मृतक की बहन ने उत्तराखंड सरकार, केंद्र, बिहार सरकार से भाई की मौत की जाँच की मांग की है. बता दें की मृतक की माँ ने कहा की 5 बेटियों होने पर काफी मन्नतों के बाद प्रकाश का जन्म हुआ था, परिवार ही नहीं पुरें गाँव के लोग उसको बहुत मानते थे, पढाई के बाद छोटी मोटी नौकरी कर घर चलाता था. पांच बहनों से उसको बहुत लगाव था. जब वो नौकरी ढूंढने जा रहा था तो बहनों से वादा करके गया था की सबके लिए महंगे गिफ्ट खरीदेगा. मगर नौकरी की सूचना के मिलने की जगह उसकी मौत की सूचना मिली…..

spot_img
- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article