Headlines

“गप्पूओं ने अपनी जुमलेबाजियों से देश को बर्बाद कर डाला, गप्पू से पप्पू बेहतर होता है..” पढ़िए किसपर हरीश रावत ने कंसा तंज…

Share

“Uttarakhand” के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अपने बयानों और सोशल मीडिया पर पोस्ट को लेकर हमेशा चर्चाओं में रहते हैं, अक्सर वह बीजेपी पर तंज कसते रहते हैं, अब उनके एक और सोशल मीडिया पोस्ट खूब वायरल हो रहा है, जिसमे चर्चा गप्पू और पप्पू पर हो रही है…”

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए सियासत की बिसात बिछ चुकी है. हर कोई अपने-अपने अंदाज में एक-दूसरे पर कटाक्ष करने में लगा हुआ है. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता हरीश रावत ने भी अपने अंदाज में बीजेपी पर निशाना साधा. हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि- गप्पू से पप्पू बेहतर होता है, आगे उन्होंने लिखा है की बीजेपी के छोटे बड़े नेता पप्पू-पप्पू कहने में रहते हैं. अरे गप्पू से तो पप्पू बेहतर होता है, क्योंकि वह प्यारा होता है, वह प्यार करता है, वह मेहनत करता है, वह लोगों के दिल जीतने का प्रयास करता है. गप्पू तो केवल लोगों को भटकाने का काम करता हैं. गप्पू तो केवल गाल बचाई का काम करता है, हमको पप्पू मुबारक हो, मगर देश को यह गप्पू मुबारक नहीं होगा चाहिए. क्योंकि इन गप्पूओं ने अपने जुमले बाजियों से देश को बर्बादी के कगार पर डाल दिया है। बता दें कि, लोकसभा चुनाव 2024 में हरीश रावत को मैदान में नहीं उतरे, लेकिन वो अपने बेटे वीरेंद्र रावत को हरिद्वार लोकसभा सीट से टिकट दिलाने में जरूर कामयाब हुए हैं. वीरेंद्र रावत हरिद्वार से कांग्रेस प्रत्याशी हैं और उनका सीधा मुकाबला बीजेपी प्रत्याशी त्रिवेंद्र सिंह रावत से है, जो उत्तराखंड के पूर्व सीएम भी रह चुके हैं। इस सीट पर खानपुर से निर्दलीय विधायक उमेश कुमार ने भी निर्दलीय नामांकन किया है. उमेश कुमार का प्रदेश के दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों त्रिवेंद्र सिंह रावत और हरीश रावत से छत्तीस का आंकड़ा माना जाता है, इसलिए माना जा रहा है कि हरिद्वार लोकसभा सीट पर इस त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है. गौरतलब हो कि उत्तराखंड की पांचों सीटों पर पहले चरण में 19 अप्रैल को मतदान होगा, जिसका परिणाम चार जून को आएगा।

( रिपोर्ट:- साक्षी सक्सेना)


Share