Wednesday, December 6, 2023
Home International *आखिर क्यों 400 छात्र और सरकार तलाश रहे हैं एक शव को,...

*आखिर क्यों 400 छात्र और सरकार तलाश रहे हैं एक शव को, क्या है इस डेड बॉडी की खासियत; पढ़िए पूरा मामला👉….*

पढ़िए आखिर क्यों सरकार और 400 छात्र ढूंढ रहे हैं एक डेड बॉडी… पढ़िए क्या है इसके पीछे का कारण….👇👇👇 400 छात्रों का भविष्य एक डेड बॉडी पर टिका हुआ है. कहानी थोड़ी फिल्मी जरूर लगती है, लेकिन फिल्मी है नहीं. क्योंकि एक डेड बॉडी ने पलामू जिले के 400 छात्रों के भविष्य को अंधेरे में डाले रखा है. दरअसल, पलामू जिले के एक कॉलेज में पढ़ने वाले 400 छात्रों को एक डेड बॉडी की तलाश है. पिछले एक साल से ये छात्र उस एक डेड बॉडी की तलाश कर रहे हैं, लेकिन उन्हें डेड बॉडी नहीं मिल पा रही है. छात्र परेशान हैं, क्योंकि इस डेड बॉडी के साथ उनका भविष्य जुड़ा है. पूरा का पूरा सरकारी तंत्र भी इस डेड बॉडी की तलाश में लगा हुआ है, लेकिन डेड बॉडी का कोई सुराग नहीं मिल पा रहा है. अब माजरा क्या है, चलिए बताते हैं।

 

पलामू जिले के 400 छात्रों को पढ़ाई के लिए एक डेड बॉडी की जरूरत है. ये सभी मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज के छात्र हैं. इन छात्रों की पढ़ाई के लिए कैडेवर की तलाश की जा रही है. डेढ़ साल से यह कैडेवर छात्रों को उपलब्ध नहीं हो सका है. कैडेवर को लेकर मेडिकल कॉलेज की ओर से पलामू डीसी और एसपी को पत्र भी लिखा गया है. कैडेवर न मिलने के कारण छात्र प्रैक्टिकल नहीं कर पा रहे हैं. पलामू में मेडिकल कॉलेज की स्थापना वर्ष 2018 में हुई थी. वर्तमान में मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में चार बैच के छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, कॉलेज को सिर्फ एक बार ही कैडेवर मिल सका है।

 

 

मेडिकल छात्रों की पढ़ाई के लिए उपयोग किए जाने वाले शव को कैडेवर कहा जाता है. कैडेवर के माध्यम से विद्यार्थियों को शरीर की संरचना के बारे में बताया जाता है. इससे बीमारी और मृत्यु के क्रमों का भी पता लगाया जाता है. कैडेवर एक लावारिस लाश होती है जिसके शरीर का कोई भी अंग क्षतिग्रस्त नहीं होता है. इसे मेडिकल कॉलेज की मोर्चरी में विशेष रूप से सुरक्षित रखा जाता है. विशेषज्ञों के मुताबिक, हर 10 छात्रों पर एक कैडेवर की जरूरत होती है. लेकिन कमी के कारण एक ही कैडेवर से काम चलाया जाता है।

 

पलामू कमिश्नर मनोज जायसवाल ने कहा कि छात्रों ने उन्हें कैडेवर के बारे में बताया था. निरीक्षण के दौरान कुछ बातें सामने आई हैं. मेडिकल कॉलेज की समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है. मेदिनीराय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. कामेंद्र प्रसाद ने बताया कि कैडेवर के लिए डीसी और एसपी को पत्र लिखा गया है. मेडिकल कॉलेज में कोई कैडेवर नहीं है, एक साल से अधिक समय से इसकी तलाश की जा रही है।

 

 

 

 

 

रिपोर्ट: साक्षी सक्सेना 

RELATED ARTICLES

*”कराची टू कोलकाता”, पहली नजर में हुआ प्यार, फिर 5 साल का इंतजार और अब सीमा हैदर के बाद भारत पहुंची पाकिस्तानी लड़की; बनेगी...

भारत देश की बहु बनी सीमा हैदर जो अपने पति को छोड़ अपने बच्चों संग भारत पहुंची थी, उनकी शादी सचिन मीणा से हुई...

*Shocking” दुनिया का एक ऐसा अनोखा कब्रिस्तान जहां इंसानों को नहीं बल्कि दफनाया जाता है मशीनों को, कहलाता है “उपग्रहों का कब्रिस्तान”; पढ़िए पूरी...

आज हम आपको एक ऐसे कब्रिस्तान के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे दुनिया का सबसे अनोखा कब्रिस्तान भी कहा जाता हक, जहां...

*Uttarakhand” में जल्द खुलेगा AIIMS की तर्ज पर ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद, जानिए किस College को मिलेगी मान्यता; एक Click में👉….*

Uttarakhand" केंद्र और राज्य सरकार देश में आयुर्वेदिक शिक्षा को लेकर लगातार बढ़ावा दे रही हैं, वहीं आपको बता दें की ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Khatima” सर्राफा व्यापारी की गोली मारकर की गई हत्या मामले का पुलिस ने 8 घंटे में किया खुलासा, बीते मंगलवार नकाबपोश बदमाशों ने की...

Report- अनुज कुमार शर्मा खटीमा विकासखंड के दयूरी ग्राम में बीते दिन मंगलवार देर शाम को आराधना ज्वेलर्स के स्वामी नानकमत्ता निवासी रमेश रस्तोगी के...

*लाख कोशिशों के बाद रुद्रपुर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल चुनाव स्थगित” अब फिर से होगी चुनाव की तैयारी: सुरमुख सिंह विर्क*

रूद्रपुर व्यापार मण्डल के चुनाव कुछ समय के लिए टले.. रूद्रपुर। व्यापार मण्डल रूद्रपुर इकाई के चुनाव कुछ समय के लिए स्थगित कर दिये गये...

*पढ़िए मजदूर ईश्वर साहू की कहानी… जिन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में 7 बार के विधायक को हराया, हिंसा में गई थी बेटे की जान;...

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव बहुत ही ज्यादा ऐतिहासिक और दिलचस्प रहे, अगर बात छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव की करें तो पहले कांग्रेस की...

*”कराची टू कोलकाता”, पहली नजर में हुआ प्यार, फिर 5 साल का इंतजार और अब सीमा हैदर के बाद भारत पहुंची पाकिस्तानी लड़की; बनेगी...

भारत देश की बहु बनी सीमा हैदर जो अपने पति को छोड़ अपने बच्चों संग भारत पहुंची थी, उनकी शादी सचिन मीणा से हुई...

Recent Comments

Translate »