24 सालो से जल रही माता रानी की अखंड ज्योत।  

सितारगंज || ऊधमसिंहनगर जिले में एक ऐसे मंदिर में पिछले 24 सालों से लगातर माँ की जोत जल रही है। नवरात्र में यहा भगतो का तांता लगा रहता है। जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से माता रानी की पूजा करता है उसकी हर मनोकामना माता रानी पूरा करती है।
उत्तराखंड को यूं ही देवभूमि नहीं कहा जाता ऊधम सिंह नगर जिले के सितारगंज में एक ऐसा मंदिर है जहाँ पर माता रानी साक्षात विराजमान है मंदिर में पिछले 22 सालों से माता रानी की अखंड ज्योत जल रही है। नवरात्र में श्री दुर्गा ज्योति पीठ मंदिर में श्रद्धालुओ का ताता लगा रहता है। ऐसा माना जाता है कि जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से माता रानी को पूजता है उसकी माता रानी सभी मनोकामना पूरी करती है। श्री दुर्गा ज्योति पीठ मंदिर की सेविका आचार्य गीता शास्त्री ने बताया कि पचास वर्ष पूर्व इस मंदिर की स्थापना की थी 1995 में हिमाचल से माँ दूर्गा की अखंड ज्योत लाकर इस मंदिर में अखंड ज्योत के रूप में स्थापित की थी तब से लेकर लगातार माता रानी की अखंड ज्योत जलती हुई आ रही है। नवरात्रे में माता रानी के 9 रूपो की उपासना की जाती है। 9वे दिन माता रानी के नाम पर विशाल भंडारे का आयोजन होता है। दसवे दिन दशहरा मनाया जाता है। दशहरे में रावण का दहन किया जाता है। क्यो की रावण द्वारा पराई स्त्री पर कु दृष्टि रखी थी लेकिन कलयुग में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारो से लगता है कि अब समाज मे भी कई रावण घूम रहे है। महिलाओं का रहना मुश्किल हो गया है राम बहुत कम रहे गए है। समाज को रामो की जरूरत है जो आज के रावणो से हमारी पुत्रियों,बहनो व माताओं की रक्षा कर सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here