2 साल 10 माह 28 दिन घोषणा 710 पूरी 206

0
360

नैनीताल || त्रिवेंद्र सरकार को 17 मार्च को तीन साल पूरे होने को है। लेकिन दो साल 11 माह में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत द्वारा कुमाऊँ मण्डल में ताबड़तोड़ दौरे कर ताबड़तोड़ घोषणाएं भी की लेकिन घोषणाओं के अनुरूप कुमाऊ के 6 जिलों में काम कम समय ज्यादा लगता हुआ दिखाई दे रहा है। कुमाऊ के 6 जिलों में मुख्यमंत्री द्वारा अब तक 710 घोषणाएं की जा चूकि है। जिसमें से तीन सालों में 206 घोषणो को ही पूरा किया गया है। जबकि 492 घोषणाओं में पिछले तीन सालों से शासन स्तर पर काम चल रहा है। जबकि 12 घोषणाओं को विलोपित कर दिया गया है। आज कुमाऊ कमिश्नर राजीव रौतेला द्वारा घोषणाओं की समीक्षा वीडियो कान्फ्रेंसिंग के द्वारा की गयी। मुख्यमंत्री द्वारा जनपद अल्मोड़ा में 131 घोषाणाऐं की गई जिसमें से 40 योजना पूर्ण कर ली गई है तथा 85 योजनाऐं गतिमान है। पिथौरागढ़ के लिए 141 घोषाणाऐं की गई जिसमें 54 पूर्ण की गई है तथा 86 गतिमान है। जनपद नैनीताल के लिए 140 योजनाओं की घोषणाऐं हुई जिसमें 53 पूर्ण कर ली गई हैं तथा 87 गतिमान है। इसकी प्रकार मुख्यमंत्री द्वारा जनपद उद्यमसिंह नगर में 155 घोषाणाऐं की गई थी जिसमें से 26 घोषणाऐं पूर्ण की गई हैं तथा 124 योजनाऐं गतिमान है। जबकि 5 योजनाओं को विलोपित कर दिया गया है। जनपद बागेश्वर में कुल 55 घोषाणाऐं हुई जिसमें से 17 पूर्ण कर ली गई हैं तथा 38 गतिमान है। जनपद चम्पावत में 88 घोषाणाऐं हुई जिसमें से 10 पूर्ण हुई तथा 72 गतिमान है। जबकि 6 योजनाओं को विलोपित कर दिया गया है। इस दौरान उन्होंने मण्डल के सभी जिलाधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणो का कार्य धीमी गति से चल रहा है। जबहि मुख्य मंत्री द्वारा स्वंय की गई घोषणाओं की निरन्तर समीक्षा की जा रही है। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों से कहा कि वे अपने स्तर से नियमित घोषणाओं की समीक्षा करें ताकि इनके क्रियान्वत में तेजी आ सके।यदि किन्ही घोषाणाओं के क्रियान्वन में यदि कोई वाद या विवाद की स्थिति हो तो स्थानीय विधायकों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ वार्ता कर हल निकालें जो घोषाणाऐं शासन स्तर से लम्बित है उनका प्रभावी अनुसरण शासन स्तर पर किया जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here