न्याय के लिए भटक रही नीति, आखिर कब मिलेगा इंसाफ

सीएम से भी लगा चुकी हैं न्याय की गुहार
सितारगंज ।। बीते कुछ समय पहले विद्युत कार्य करते हुए एक युवक की मौत हो गयी थी। डेढ़ माह पूर्व विद्युत कार्य करते हुए हुई धीरज नेगी की मौत के मामले में टेक्निकल इंस्पेक्टर ने बयान दर्ज किये थे। न्याय के लिए मृतक की पत्नी और दो बच्चे दर दर भटक रहे हैं। बता दें कि मृतक की पत्नी ने बीती 30 अगस्त को सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत से भी न्याय की गुहार लगाई थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सितारगंज में विद्युत कार्य करते हुए करंट लगने से लगभग डेढ़ माह पूर्व धीरज नेगी की मौत हो गयी थी। जिस मामले में शनिवार को मृतक की पत्नी नीति नेगी के बयान लेने ऊर्जा निगम के टेक्निकल इंस्पेक्टर सितारगंज पहुंचे। टेक्निकल इंस्पेक्टर का कहना है कि वह जांच/बयान की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को सौंपेंगे उसके आधार पर अधिकारियों द्वारा आगे की कार्यवाही की जाएगी। बता दें की बीते 21जुलाई को करंट लगने से युवक की मौत मामले की जांच शुरू हो गई। ऊर्जा निगम के जांच अधिकारी अरविंद कुमार कश्यप ने मृतक की पत्नी के बयान दर्ज कर लिए हैं। जांच अधिकारी इसकी रिपोर्ट देहरादून के अधिकारियों को सौंपेंगे। जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
किच्छा रोड के पास रहने वाले दैनिक कर्मी 29 वर्षीय धीरज नेगी (धीरू) पुत्र नंदा सिंह नेगी बीती 21जुलाई को किच्छा रोड स्थित आदर्श कालोनी में खंभे पर चढ़ कर बिजली के तार ठीक कर रहा था। इसी बीच करंट लगने से वह नीचे गिर गया। जिसके बाद उसे अस्पताल लाया गया। अस्पताल में चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। घटना के बाद मृतक के बड़े भाई ब्रजमोहन नेगी (बिल्लु) की तहरीर पर पुलिस ने एसडीओ विद्या भूषण, जेई विनोद जोशी और लाइन मैन नानक चरण पर 304(A) का मुकदमा दर्ज किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here