छात्रवृति घोटाला : पढ़िये क्यों जारी हुआ लाभांवित छात्रों को नोटिस

0
384

रुद्रपुर ।। दशमोत्तर छात्रवृति घोटाले में उधम सिंह नगर जिले की एसआईटी द्वारा 1425 छात्रो को नोटिस जारी करते हुए पुलिस लाइन में 23 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक अपने बयान दर्ज करने को कहा गया है। अब तक एसआईटी द्वारा जिले से बाहर पढ़ने वाले छात्र छात्राओं द्वारा ली गयी। दशमोत्तर छात्रवृति की जांच करते हुए 1728 छात्र छात्राओं का सत्यापन किया जा चुका है। बता दें 1037 छात्रों की छात्रवत्ति आवंटन में अनियमितता मिली थी। जिसपर एसआईटी द्वारा अब तक क़ई संस्थानों में मुकदमा दर्ज करते हुए क़ई दलालों को जेल भी भेजा गया है।
हाईकोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश के 11 जिलों में एसआईटी द्वारा दशमोत्तर छात्रवृति घोटाले की जांच की जा रही है। उधम सिंह नगर में एसआईटी द्वारा ऐसे 1425 छात्रों को नोटिस जारी किया गया है। जिनका सत्यापन अब तक नही हुआ है। पुलिस लाइन में 23 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक ऐसे छात्र और छात्राओं का सत्यापन किया जाएगा जिन छात्रों को छात्रवृत्ति प्राप्त नहीं हुई है, या छात्रवृत्ति कम प्राप्त हुई है व जिन छात्रों को छात्रवृत्ति वितरण के सम्बन्ध में अपना पक्ष रखना है। ऐसे छात्र जारी समय अवधि के बीच पुलिस लाइन रूद्रपुर में अपने शिक्षण सम्बन्धी दस्तावेजों को लेकर अपने बयान दर्ज करा सकते है। गौरतलब है कि उधम सिंह नगर जिले में दशमोत्तर छात्रवृति घोटाले के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है। पहले चरण में जिले के बाहर पढ़ने वाले छात्र छात्राओं की जांच की जा रही है। समाज कल्याण विभाग द्वारा उपलब्ध कराये गये दस्तावेजों के अनुसार जनपद ऊधमसिह नगर में रहने वाले कुल 3024 छात्रों द्वारा बाहरी राज्यों में स्थित कुल 303 शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत रहकर बी.एड., एल.एल.बी., पी.जी.डी.एम., नर्सिगं, बी.टैक., पॉलीटैक्निक, बी.ए.एम.एस., एम.एड. आदि कोर्सेज की छात्रवृत्ति प्राप्त की है। छात्रवृत्ति वितरण की अनियमितता की जाँच करने पर अभी तक जॉच टीमों द्वारा 1728 छात्रों का भौतिक सत्यापन किया गया है, जिसमें 1037 छात्रों की छात्रवृति आवंटन में अनियमितता पायी गयी, जिस सम्बन्ध में जॉच टीम अधिकारियों द्वारा अब तक जनपद के विभिन्न थानों में 09 अभियोग पंजीकृत कराये जा चुके हैं तथा 02 शिक्षण संस्थानों के विरुद्ध अभियोग दर्ज कराने हेतु अनुमोदन प्राप्त करने की कार्यवाही की गयी है। अब तक 08 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चूका है। टीम द्वारा 185 शिक्षण संस्थानों में अध्यनरत रहे छात्रो का भौतिक सत्यापन किया जा रहा है तथा 118 शिक्षण संस्थानों का भौतिक सत्यापन वर्तमान समय तक आरम्भ नहीं किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here